प्रेमिका को पाने सेना के जवान ने खेला खौफनाक खेल, सुपारी देकर करा दिया प्रमिका के पति की हत्या, जाने कहां का है मामला…

कोरबा। प्रेमिका को पाने के लिए सेना के एक जवान ने सुपारी देकर प्रेमिका के पति की हत्या करा दी। पुलिस ने डेढ़ माह बाद हत्या के आरोप में 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें सेना का जवान भी शामिल है। आरोपियों ने मृतक को गड़ा धन खोजने का लालच देकर जंगल ले गए और धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी।

मिली जानकारी की अनुसार बीते 22 अक्टूबर की शाम करीब 5:00 बजे ग्राम करुमौहा चौकी राजगामार क्षेत्र में कुलदीप सिंह बंजारे पिता गया प्रसाद बंजारे को किसी अज्ञात व्यक्ति ने धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस चौकी राजगामार थाना बालको ने धारा 302, 201,34 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना किया जा रहा था।
मामले की गंभीरता एवं संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा भोज राम पटेल ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा एवं नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा योगेश साहू के पर्यवेक्षण में विशेष टीम का गठन कर 03 टीमो को अलग अलग टास्क सौंपा था। जिनके द्वारा घटना से संबंधित सभी बिंदुओं पर लगातार पूछताछ किया जा रहा था ।
मृतक कुलदीप बंजारे इंजीनियरिंग ग्रेजुएट था एवं शांत स्वभाव का व्यक्ति था जिसका किसी से कोई लड़ाई झगड़ा नहीं था। जिससे विवेचना में ऐसा कोई सुराग नहीं मिल पा रहा था जिससे कि अज्ञात हत्यारों तक पहुंचा जा सके।
विवेचना के दौरान ज्ञात हुआ कि घटना दिनांक एवं घटना के पूर्व मृतक के घर पर एक मोटरसाइकिल में 3 लोग आए थे जो नए लोग थे जिनका चेहरा बंधा हुआ था जो मृतक को घर से बाहर दूर ले जाकर बातचीत किया करते थे।
इस आधार पर राजगामार बालको कोरबा शहर उरगा एवं अन्य स्थानों पर लगे हुए सीसीटीवी कैमरा की लगातार पड़ताल की गई एवं अज्ञात आरोपी के आने-जाने के सभी संभावित रास्तों में रहने वाले लोगों से पूछताछ किया। इसी दौरान पता चला कि पालेश्वर दास मानिकपुरी, मंगलदास महंत एवं चंद्रादास नामक व्यक्ति घटना दिनांक एवं घटना के पूर्व भी मृतक से आकर मिले थे। इसी के आधार पर तीनों संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर अपना अपराध स्वीकार किया।
आरोपियों ने बताया कि मृतक कुलदीप बंजारे की शादी करीब 1 वर्ष पूर्व बिंदु बंजारे नामक लड़की के साथ हुई थी, आरोपी संजीव साहू उर्फ संजू साहू पिता चैनू राम साहू जो कि सेना में सिपाही है वह बिंदु बंजारे से प्रेम करता था किन्तु दोनों अलग-अलग जाति के होने के कारण विवाह करने से मना कर दिया था।
इसी दौरान बिंदु बंजारे का विवाह मृतक कुलदीप बंजारे से हो गया। संजीव साहू उर्फ संजू साहू विवाह के बाद भी बिंदु बंजारे के साथ प्रेम संबंध रखने का दबाव बनाने लगा जिसे बिंदु बंजारे ने मना कर दिया। आरोपी संजीव उर्फ संजू साहू ने मृतक कुलदीप बंजारे को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया ताकि बिंदु बंजारे के साथ प्रेम सम्बन्ध बना रहे। अपने मित्र बालेश्वर दास मानिकपुरी से प्लान के बारे में बता कर कुलदीप बंजारे की हत्या करने हेतु 2 लाख 30 हजार रुपए की सुपारी देकर सौदा तय हुआ।
फिर पालेश्वर दास मानिकपुरी नेअपने साथी मंगल दास महंत एवं चंद्रा दास के साथ मिलकर घटना करने का प्लान बनाया। आरोपी संजीव दास साहू के द्वारा मृतक कुलदीप बंजारे के घर का फोटो एवं कुलदीप बंजारे का फोटो मोबाइल के माध्यम से भेज दिया। फिर आरोपीगण मोटरसाइकिल में कुलदीप बंजारे के घर आकर कुलदीप से गड़ा धन खोजने के नाम पर दोस्ती की और कुलदीप बंजारे को एकांत में ले जाकर बात करने लगे। तीन-चार दिनों तक बात करने के बाद दिनांक 22 अक्टूबर की शाम करीब 5:00 बजे तीनों आरोपी कुलदीप बंजारे के घर आए और गड़ा धन के मामले में बात करने के बहाने ग्राम करूमौहा के जंगल में ले जाकर आरोपी को चाकू से मारकर हत्या कर दी।
आरोपी संजू साहू से मिले रकम से आरोपी बालेश्वर दास मानिकपुरी एक ट्रैक्टर फाइनेंस में खरीदा है । घटना में प्रयुक्त चाकू, मोटरसाइकिल एवं खरीदा गया ट्रैक्टर जप्त कर लिया गया है। आरोपीगण को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है।
इस पूरे मामले का मास्टर माइंड संजीव साहू उर्फ संजू साहू पिता चैनू राम साहू निवासी ग्राम भैंसों थाना पामगढ़ जिला जांजगीर चांपा का है जो कि भारतीय सेना में सिपाही के पद पर पदस्थ है वर्तमान में लद्दाख क्षेत्र में पदस्थ है।
00 गिरफ्तार आरोपी
1- संजीव साहू उर्फ संजू साहू पिता चैनूराम साहू उम्र 23 वर्ष निवासी ग्राम भैसों थाना पामगढ़ जिला जांजगीर चांपा
2- पालेश्वर दास मानिकपुरी पिता स्वर्गीय दास मानिकपुरी उम्र 40 वर्ष निवासी थाना बलौदा जिला जांजगीर चांपा
3- मंगल दास महंत पिता माखन दास महंत उम्र 28 वर्ष निवासी बुची हरदी थाना बलौदा जिला जांजगीर चांपा
4 चंद्रादास पिता स्वर्गीय जंगल दास उम्र 35 वर्ष निवासी नगला थाना बलौदा जिला जांजगीर चांपा

Author Profile

नीरजधर दीवान
नीरजधर दीवान
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments