तहसील कार्यालय का कलेक्टर ने किया औचक निरीक्षण, तहसीलदार, आरआई और 5 पटवारियों को कारण बताओ नोटिस

कोरबा। तहसील कार्यालय के औचक निरीक्षण में निकली कोरबा कलेक्टर ने तहसीलदार, आरआई और 5 पटवारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने यह नोटिस राजस्व प्रकरण के निराकरण करने में हिला हवाला करने और कई पेशी देने के बाद भी लंबित रखने के कारण दिया है।

प्रदेश में बहुत से कलेक्टर अपने AC चेंबर से जिला चला रहे है लेकिन कोरबा कलेक्टर रानू साहू लगातार फील्ड में जाकर मैदानी अमले के कामकाज को न केवल देख रही है बल्कि लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई भी कर रही है। इसी कड़ी में कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने मंगलवार को तहसील कार्यालय बरपाली का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने फौती, नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन आदि के लंबित राजस्व प्रकरणों की जानकारी मौके पर मौजूद तहसीलदार से ली। उन्होंने आरआई और पटवारियों की बैठक लेकर लंबित प्रकरणों को तेजी से निराकृत करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्रीमती साहू ने तहसील कार्यालय में लंबित प्रकरणों का अवलोकन किया। कलेक्टर श्रीमती साहू ने फौती नामांतरण के प्रकरण के निराकरण में नियमानुसार पूरी सुनवाई नहीं करने और निराकरण के दौरान पूर्ण राजस्व प्रक्रिया का पालन नहीं कर आदेशार्थ प्रस्तुत करने के लिए तहसीलदार श्रीमती आराधना प्रधान को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश एसडीएम कोरबा को मौके पर ही दिए। उन्होंने आरआई और पटवारी प्रतिवेदन के लिए लंबित राजस्व प्रकरणों की जानकारी ली। साथ ही प्रकरणों का हल्का वार अवलोकन भी किया। कलेक्टर श्रीमती साहू ने आरआई प्रतिवेदन के लिए लंबे समय से लंबित सीमांकन के प्रकरण के लिए राजस्व निरीक्षक करुणा मैत्री को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन आदि राजस्व प्रकरण निराकरण के लिए लंबे समय से तथा 10 से अधिक पेशी से पटवारी प्रतिवेदन के लिए लंबित होने के कारण 5 पटवारियों ममता सिंह, मंजूलता, सूरज कुमार, देवेंद्र तंवर और इशरत परवीन को भी कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर श्रीमती साहू ने जन चौपाल में आए प्रकरणों का भी त्वरित निराकरण करने तथा अलग से रजिस्टर में जानकारी संधारित करने के निर्देश दिए।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments