आईजी की अपराध समीक्षा, कड़े तेवर से 30 दिन में 177 फरार आरोपियों की हुई गिरफ्तारी, जांजगीर पुलिस को मिली शाबाशी

बिलासपुर। पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी लगातार अपराध की समीक्षा कर रहे है। इस दौरान वे पीड़ितों से सीधा संवाद भी कर रहे है। इसी का नतीजा हा की 30 दिन के अंदर महिला संबंधी अपराधों में रेंज के जिलों में कुल 177 फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। अकेले 46 अपराधियों को गिरफ्तार करने के कारण जांजगीर पुलिस को आईजी ने शाबाशी दी है।

अपराध समीक्षा की कड़ी में 31.05.2022 को श्री डांगी ने रेंज के जांजगीर-चाम्पा जिले के महिला संबंधी गंभीर अपराध जिनमें आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है, ऐसे प्रकरणों की समीक्षा की साथ ही इन अपराधों में पीड़ितों को ‘पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना’ अंतर्गत क्षतिपूर्ति राशि प्रदाय किये जाने के संबंध में पुलिस अधीक्षक एवं राजपत्रित पुलिस अधिकारियों व विवेचकों की वर्चुअल अपराध समीक्षा बैठक ली गई।

अपराध समीक्षा के दौरान थाना जांजगीर के 01 प्रकरण में पीड़िता के द्वारा बताया गया कि उसे आरोपी के परिजन द्वारा केस वापस लेने के लिए मोबाईल फोन पर धमकी दी जा रही है, इस पर पीड़िता से आवेदन लेकर संबंधित के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करने हेतु पुलिस अधीक्षक जांजगीर-चाम्पा को निर्देशित किया गया। थाना शिवरीनारायण के 01 प्रकरण की पीड़िता के द्वारा बताया गया कि उसको आरोपी के रिश्तेदार सहायक उप निरीक्षक के द्वारा समझौता के लिए दबाव बनाया जा रहा है, इस पर पुलिस अधीक्षक को संबंधित सहायक उप निरीक्षक का स्पष्टीकरण लेकर अविलंब नियमानुसार कार्यवाही किये जाने तथा उसे तत्काल थाना शिवरीनारायण से अन्यत्र स्थानांतरित किये जाने निर्देशित किया गया। इसी प्रकार थाना हसौद के 01 प्रकरण की पीड़िता द्वारा बताया गया कि आरोपी का पिता उसे डरा-धमका रहा है, इस पर पुलिस अधीक्षक को पीड़िता का आवेदन लेकर नियमानुसार कार्यवाही करने निर्देशित किया गया।

समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक, जिला जांजगीर-चाम्पा के द्वारा अवगत कराया गया कि दिनांक 1.5.2022 से दिनांक 30.5.2022 तक महिला संबंधी अपराधों के कुल 41 प्रकरणों में 46 आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है तथा शेष प्रकरणों की समीक्षा कर आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम विभिन्न स्थानों पर भेजी गई है। पुलिस महानिरीक्षक द्वारा जिला जांजगीर-चाम्पा द्वारा की गई इस कार्यवाही की सराहना करते हुए अन्य प्रकरणों में भी आरोपियों की गिरफ्तारी कराया जाकर यथाशीघ्र प्रकरणों का वैधानिक निराकरण किये जाने निर्देशित किया गया। पुलिस अधीक्षक जिला जांजगीर-चाम्पा को पीड़ितों की सभी समस्याओं का संवेदनशीलता के साथ तत्काल निराकरण करने निर्देशित किया गया।

समीक्षा में पाया गया कि जिले के 04 थाने क्रमशः बिर्रा, पामगढ़, चंद्रपुर व सारागांव में महिला संबंधी कोई गंभीर अपराध लंबित नहीं है। इसी प्रकार थाना जांजगीर में 06 मामलों में 10 आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है। उक्त चारों थाना प्रभारियों को पुलिस महानिरीक्षक द्वारा रेंज स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा तथा जिले में महिला संबंधी अपराधों में विगत एक माह में की गई आरोपियों की गिरफ्तारी में योगदान के लिये संबंधित पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों को जिला स्तर पर पुरस्कृत किये जाने पुलिस अधीक्षक, जिला जांजगीर-चाम्पा को निर्देशित किया गया। समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक जिला जांजगीर-चाम्पा श्री विजय अग्रवाल और जिले के राजपत्रित अधिकारीगण व संबंधित प्रकरणों के विवेचकगण सहित रेंज कार्यालय बिलासपुर में पदस्थ राजपत्रित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Author Profile

नीरजधर दीवान
नीरजधर दीवान
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments