बच्चों की मौत का एक बड़ा कारण बनता है डायरिया, इसलिए डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा 5 जुलाई तक, बांटेंगे ORS और जिंक की गोलियां

बिलासपुर। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में गहन डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा 21 जून से 5 जुलाई तक चलाया जा रहा है। 5 वर्ष तक की आयु के बच्चों में मृत्यु का एक कारण डायरिया भी है जिसके उपचार से बच्चों की मृत्यु दर में कमी लायी जा सकती है। बच्चों में डायरिया से होने वाली मृत्यु की रोकथाम के उद्देश्य से गहन डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है।

जिला स्तरीय कार्यक्रम का उद्घाटन 21 जून को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. प्रमोद महाजन की अध्यक्षता में शहरी हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर, तालापारा में हुआ। पखवाड़ा अवधि के दौरान जिले एवं विकासखंड स्तर पर स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में मास्क पहनना, सामाजिक दूरी एवं हाथ धोने के सही तरीको के विषय में बताया जा रहा है। स्वास्थ्य केन्द्रों व समुदाय में ओ.आर.एस. एवं जिंक की गोलियों का वितरण किया रहा है। इस कार्यक्रम के दौरान माताओं को घर पर ओ.आर.एस. बनाने की विधि वितरण और उपयोग एवं डायरिया प्रकरणों के पहचान एवं खतरों के लक्षणों के बारे में बताया जा रहा है।
पखवाड़ा कार्यक्रम के उदघाटन के अवसर पर डब्लू.एच.ओ के राज्य सलाहकार श्री उरिया नाग, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री पियुली मजुमदार सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी एवं समस्त मितानिन उपस्थित थे।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments