कोरबा कलेक्टर की अनुकरणीय पहल, फ्लाई ऐश डंपिंग भूमि में किया जाएगा मेलिया_दुबिया का प्लांटेशन

कोरबा। सितम्बर की शुरुआत में कलेक्टर संजीव झा ने जिले में पर्यावरण संरक्षण की दिशा में विशेष पहल करने की योजना बनाई है। फ्लाई एश डम्पिंग भूमि में इमारती वृक्ष मेलिया-दूबिया का रोपण करने का निर्णय लिया है। जहां एक ओर वृक्ष रोपण से डम्पिंग ग्राउंड से फ्लाई एश के बारिश में बहकर फसलों को होने वाले नुकसान से राहत मिलेगी, वही दूसरी ओर भूमि में उगाये गये इमारती वृक्ष का व्यवसायिक लाभ भी मिलेगा। कलेक्टर झा ने मंगलवार को आयोजित एक समीक्षा बैठक में फ्लाई एश डम्पिंग लैण्ड में मेलिया-दूबिया पौध रोपण के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश पर्यावरण विभाग के अधिकारियों को दिये है। मेलिया-दूबिया लगाने के लिए प्रारंभिक चरण में तीन जगहों पर जमीन का चिन्हांकन किया गया है। इसमें कोहड़िया में लगभग 40 एकड़, महोरा में 10 एकड़ एवं कटबितला के लगभग पांच एकड़ फ्लाई एश डम्पिंग लैण्ड शामिल है। कलेक्टर झा ने मेलिया-दूबिया लगाने के लिए आवश्यक सहयोग सार्वजनिक क्षेत्र के औद्योगिक संस्थानों से प्राप्त करने तथा पर्यावरण और उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों के तकनीकी सहयोग से कार्य योजना को पूर्ण करने के निर्देश दिये है। इस साप्ताहिक समीक्षा बैठक में डीएफओ कोरबा प्रियंका पाण्डेय, डीएफओ कटघोरा प्रेमलता यादव, जिला पंचायत के सी.ई.ओ. नूतन कंवर सहित सभी विभागीय अधिकारीगण मौजूद थे।
इस समीक्षा बैठक में कलेक्टर झा ने जिले के सभी ग्राम पंचायतों में गौठान विकसित करने के लिए जगह चिन्हांकन की प्रगति के बारे में भी समीक्षा की। उन्होंने गौठान बनाने से छूटे हुए ग्राम पंचायतों में पांच एकड़ जमीन चिन्हांकित करने तथा स्वीकृति के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने के भी निर्देश दिये है। उन्होंने गोधन न्याय योजना अंतर्गत जिले में गोबर खरीदी तथा वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के बारे में भी जानकारी ली। साथ ही जिले के गौठानों में बिजली कनेक्शन लगाये जाने की प्रगति के बारे में भी जानकारी अर्जित किया। कलेक्टर ने नागरिकों के आयुष्मान कार्ड बनाने के बारे में भी जानकारी ली और विशेष शिविरों के माध्यम से जिला और जनपद स्तरीय अधिकारियों के समन्वय से छूटे हुए लोगों के स्वास्थ्य कार्ड बनाने के निर्देश जारी किए।